एमबीएम न्यूज़/शिमला
 विधानसभा घेराव के दौरान युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किए जाने के खिलाफ मंगलवार को युवा कांग्रेस ने काला दिवस मनाया। प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष मनीष ठाकुर के नेतृत्व में युकां कार्यकर्ता काली पट्टी बांधकर रिज मैदान पर पहुंचे और लाठीचार्ज की घटना का विरोध जताया। इसके बाद जिलाधीश के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा गया।

                    Demo pic

        मनीष ठाकुर ने कहा कि विगत 24 अगस्त को विस घेराव के दौरान यूथ कांग्रेसियों का प्रदर्शन शांतिपूर्ण चल रहा था, लेकिन पुलिस द्वारा बर्बरतापूर्ण युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया गया। उन्होंने कहा कि लाठीचार्ज में महिला युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी नहीं बख्शा गया। जो कि बेहद निंदनीय है। राष्ट्रीय युवा कांग्रेस के नेता जब युवाओं को संबोधित करने के लिए पुलिस द्वारा लगाए गए बेरिगेटस पर चढ़ने की कोशिश कर रहे थे, तो पुलिस द्वारा उन्हें संबोधन करने से भी रोका गया।
      उन्होंने आरोप लगाया कि लाठीचार्ज के साथ-साथ पुलिस ने हमारे कार्यकर्ताओं पर पथराव किया।  जिसमें हमारे कई कार्यकर्ताओं के सिर फुट गए और बहुत बुरी स्थिति में घायल हुए तथा आईजीएमसी में भर्ती कराए गए। पुलिस का तानाशाहीपूर्ण रवैया बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मनीष ठाकुर ने दावा किया कि इस पूरे घटनाक्रम के वीडि़यो फुटेज उनके पास मौजूद हैं। इस बात के पूरे साक्ष्य हैं कि पुलिस ने पथराव व लाठीचार्ज किया।
     बताते चलें कि 24 अगस्त को विस घेराव के दौरान युकां के प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प में एएसपी सहित कई घायल हुए थे। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर पथराव करने का आरोप लगाते हुए 20 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ बालूगंज थाने में मामला दर्ज करवाया, वहीं इस मुद्दे पर कांग्रेस ने विस के मानसून सत्र में भारी हंगामा किया। बीते कल मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सदन में इस केस में मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं।
Share.

About Author

Leave A Reply