एमबीएम न्यूज़/ऊना 
शिमला विधानसभा के बाहर युवा कांग्रेस व महिला युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पथराव व लाठीचार्ज को लेकर जिला युवा कांग्रेस ऊना ने न्यायायिक जांच की मांग उठाई है। प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष मनीष ठाकुर के निर्देश के बाद सोमवार को जिला युवा कांग्रेस ऊना ने रोष रैली निकालते हुए डीसी ऊना  के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजा।

युवा कांग्रेस कार्यकर्ता ज्ञापन सौंपने से पहले

   युवा कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रदेशाध्यक्ष मनीष ठाकुर की दिशा निर्देशानुसार सभी जिलों में युवा कार्यकर्ताओं पर हुए लाठीचार्ज को लेकर रोष प्रदर्शन किया जा रहा है। इसी कड़ी में जिला ऊना में भी रोष प्रदर्शन कर राज्यपाल को ज्ञापन भेजा गया है। कार्यकताओं का कहना है कि 24 अगस्त को हिमाचल प्रदेश विधानसभा परिसर के बाहर युवा कांग्रेस का विभिन्न मांगों व मुद्दों को लेकर राज्यस्तरीय प्रदर्शन आयोजित किया गया था। जिसमें राष्ट्रीय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष केशव चंद यादव व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीनिवास विशेष रूप से युवाओं को संबोधित करने शिमला पहुंचे थे।
    युवा कांग्रेस का प्रदर्शन शांतिपूर्ण था। हिमाचल युवा कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल अपनी मांगों को लेकर विधानसभा परिसर में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर को ज्ञापन सौंपना चाहता था। लेकिन पुलिस द्वारा बर्बरतापूर्ण युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया गया। जिसकी हम कड़ी निंदा करते है। पुलिस द्वारा लाठीचार्ज में हमारे बहने, महिला, युवा कांग्रेस की कार्यकर्ताओं को भी नहीं बख्शा गया, जो कि बेहद शर्मनाक व निंदनीय है। लाठीचार्ज हमारे कार्यकर्ता बुरी तरह से घायल हुए।
    पुलिस अधिकारियों के मना करने के बावजूद भी पुलिसकर्मियों ने आखिर किसके इशारों पर लाठीचार्ज शुरू किया। लाठीचार्ज के साथ-साथ पुलिस ने हमारे कार्यकर्ताओं पर पथराव में किया जिसमें हमारे कई कार्यकर्ताओं के सर फट गए। बहुत बुरी स्थिति में घायल हुए तथा आईजीएमसी में भर्ती कराए गए। पुलिस की ये गुंडागर्दी व तानाशाही रवैया बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। हिमाचल की देवभूमि को शर्मसार किया गया है।
पुलिस हमारे कार्यकर्ताओ को गिरफ्तार कर सकती थी, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया बल्कि बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज किया। लोकतांत्रिक व्यवस्था में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन हमारा अधिकार है, लेकिन प्रदर्शन को कुचलना सरकार के इशारों पर हुआ गए। कार्यकर्ताओं ने कहा कि पूरे कार्यक्रम की वीडियो फुटेज मौजूद है।
    इस बात के पूरे साक्ष्य मौजूद है कि पुलिस ने पथराव व लाठीचार्ज किया। पुलिस के एक एएसआई को पथराव करती बार वीडियो में भी रिकॉर्ड हुआ है। जब हमारे कार्यकर्ता पुलिस के बीच गए तो पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी क्यों नही की। इस मांग को लेकर हम आपसे मांग करते है कि दोषी पुलिस कर्मियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। जिस पुलिस कर्मी ने पथराव किया पहले उसको नौकरी से निष्कासित किया जाए।
    इस अवसर पर लोकसभा महासचिव गोपाल सैनी, अखिल अग्निहोत्री, राघव राणा, वरुण पूरी, ब्लॉक ऊना प्रधान राहुल मेनन, हरोली प्रशांत भारद्वाज, कुलतेहड़ नीरज, चिन्तपूर्णी अनुज धीमान, ईशान ओहरी, रोहन द्विवेदी, रोहित कनव, संदीप कुमार, ईशा, काशिव मोहम्मद, सुशांत बाली, ऑलिव मोहम्मद, साहिल, सचिन, आशीष, शान ठाकुर, शुभम जोशी, अमरजीत सिंह, अजय, मनिदर, साहिल, मुकेश, बबलू, साहिल, रतीफ, रॉकी, गगनदीप, सुनील, अमन, मनी रठोर, लक्की नाहर, यशप्रीत, प्रदीप रत्न, सचिन नाहीर, जरनैल सिंह, प्रदीप, सौरव भारद्वाज व निखिल सहोड सहित अन्य उपस्थित रहे।
Share.

About Author

Leave A Reply