एमबीएम न्यूज़/हमीरपुर
नगर परिषद सुजानपुर द्वारा बस स्टैंड पर बनाए जाने वाले शौचालय निर्माण कार्य में संबंधित ठेकेदार द्वारा लेट-लतीफी के चलते नोटिस जारी किया है। नोटिस में लिखा गया है कि निर्माण कार्य में देरी क्यों की जा रही है, क्या कारण है कि शौचालय निर्माण हेतु जो अवार्ड पत्र उन्हें दिया जा रहा है। वह इसे प्राप्त करने में आनाकानी क्यों कर रहे हैं। इस बारे नगर परिषद द्वारा संबंधित ठेकेदार को कार्यालय में हाजिर होने को भी कहा गया है। चेतावनी के रूप में स्पष्ट शब्दों में कहा गया है, कि आप कार्यालय में नहीं पहुंचे तो आपको ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा। बताते चलें कि सुजानपुर बस स्टैंड के ऊपर नगर परिषद ने दो शौचालय बना रखे थे।

                          Demo pic

शौचालय की स्थिति सही ना होने के चलते नगर परिषद ने इन्हें नए सिरे से बनाने के लिए बजट जारी किया है। प्रस्ताव डालकर निर्माण कार्य शुरू करवाने के लिए सहमति ली है। सहमति के बाद कार्य संबंधित ठेकेदार को दिया गया है। लेकिन जिस ठेकेदार को यह कार्य दिया गया है वह निर्माण शुरू करने वाले पत्र को प्राप्त करने में लगातार आनाकानी कर रहा है। इसके लिए लगातार नगर परिषद द्वारा इस अवॉर्ड पत्र को संबंधित ठेकेदार के पास भेजा जा रहा है। ठेकेदार को लगातार फोन करके अवॉर्ड लेटर रिसीव करने को भी कहा जा रहा है। ठेकेदार द्वारा ना तो उस अवार्ड लेटर को लिया जा रहा है और ना ही नगर परिषद अधिकारी का फोन उठा रहा है।

इस तरह की कार्रवाई के बाद नगर परिषद अधिकारी ने कठोर रुख अपनाते हुए एक पत्र ठेकेदार को नोटिस के रूप में भेजा है। जिसमें साफ तौर पर संबंधित बातों का जिक्र किया गया है। यहां तक कहा गया है कि शौचालय निर्माण का कार्य प्राथमिकता के आधार पर होना चाहिए नहीं तो माननीय न्यायाधीश उच्च न्यायालय हिमाचल प्रदेश के अनुसार संबंधित ठेकेदार के ऊपर कारवाई की जाएगी। यह भी कहा गया है कि जल्द से जल्द नगर परिषद कार्यालय में हाजिर हो नहीं तो आप को जारी किया गया। यह कार्य रद्द कर दिया जाएगा। इसके साथ ही उस ठेकेदार को भी ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा। बताते चलें कि नगर परिषद सुजानपुर को बस स्टैंड सुजानपुर में बनाए जाने वाले शौचालयों को लेकर लगातार बातें सुनने को मिल रही हैं।

शहर में आने वाली जनता को शौचालय के ऊपर ताला लगा मिलने से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उधर, इस संबंध में नगर परिषद अधिकारी किशोरी लाल ठाकुर से बात की, तो उन्होंने बताया जिस ठेकेदार को शौचालय निर्माण का कार्य दिया गया है वह अवार्ड लेटर लेने से आनाकानी कर रहा है। इसलिए ठेकेदार को कार्यालय में बुलाया गया है। अगर वह आ जाता है तो ठीक है नहीं तो इस कार्य को ठेकेदार से रद्द कर दिया जाएगा। इसके साथ ही संबंधित ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट भी कर दिया जाएगा। लोगों को असुविधा ना हो इसके लिए शौचालय निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा।

Share.

About Author

Leave A Reply