एमबीएम न्यूज़ / बद्दी

बी.बी.एन. में बढ़ रहे चिट्टे के कारोबार पर रोकथाम के उदेश्य से पूर्व विधायक राम कुमार चौधरी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व डीजीपी को चिठ्ठी लिखी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र बी.बी.एन. पंजाब व हरियाणा की सीमा पर सटा होने के चलते अति संवेदनशील क्षेत्र में आता है। जिस प्रकार से पिछले कुछ महीनों में चिट्टे के कारोबारियों ने इस क्षेत्र में अपना जाल बिछाया है। उससे यह साफ है, कि अगर जल्द इन लोगों को न रोका गया। तो वो दिन दूर नहीं जब पंजाब की तरह हिमाचल के युवा भी इसकी लत का शिकार हो जाएंगे।

Demo Pic

       उन्होंने लिखा कि पिछले कुछ महीनों में बी.बी.एन. में दर्जनों युवा चिट्टे की ज्यादा डोज के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं। पुलिस ने बेशक कुछ और कारण बता कर अपना पल्ला झाड़ लिया हो। परन्तु जिन लोगों ने अपने बच्चे खोए हैं, उन्हें पता है कि उनके बच्चे की जान कैसेे गई।  वर्तमान में पुलिस प्रशासन चिट्टे पर नकेल कसने में पूरी तरह से नाकाम रहा है। पुलिस प्रशासन को चाहिए कि चिट्टे के गिरोह को पकडऩे के लिए बी.बी.एन. में विशेष फोर्स लगाई जाए। ताकि चिट्टे के व्यापारियों तक पुलिस के हाथ पहुंच सके।
       वर्तमान में अकेले बी.बी.एन. की स्थिति पर नजर दौड़ाई जाए। तो दर्जनों युवा चिट्टे के चलते अपनी जिंदगी गंवा चुके है।  300 से ज्यादा युवा पंजाब, हरियाणा व हिमाचल में खुले नशा केंद्रों में अपना इलाज करवा रहे हैं। उन्होंने मांग उठाई है कि ज्यादातर लोग जिनके बच्चे नशा मुक्ति केंद्रों में उपचाराधीन है। उन्हें वहां भी कोई अन्य नशा दिया जाता है। बद्दी में कुल्हाड़ीवाला में नशा मुक्ति केंद्र के बाहर मिली एक युवक की लाश जो कि यहीं पर इलाज करवा रहा था। लोगेां ने इस पर खूब शोर-शराबा किया। परन्तु अभी भी वहां किराए पर कमरे लेकर नशा मुक्ति केंद्र चले हुए है।
    सरकार को स्वयं ऐसे नशा मुक्ति केंद्रों का संचालन करना चाहिए। ताकि भटके हुए युवाओं को सही इलाज मिल सके। अपने स्तर पर एक ऐसी टीम गठित करेंगे। जो यवाओं को इस जानलेवा नशे के प्रति जागरूक करेगी। इसके दुष्प्रभावों के बारे में बताएगी। यही नहीं बाहरी राज्यों से बी.बी.एन. में चिट्टे का व्यापार करने वाले लोगों को पकडऩे के लिए प्रयास करेगी। पुलिस को भी सहायता प्रदान करेगी।
    चौधरी ने कहा कि वो स्वयं भी प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलेंगे व बी.बी.एन. को चिट्टे जैसे नशे से बाहर निकालने के लिए पुलिस कर्मियों की संख्या बढ़ाने व पंजाब व हरियाणा सरकार से तालमेल बनाने व हिमाचल चिट्टा सप्लाई करने वालों को पकडऩे की भी मांग की जाएगी।
Share.

About Author

Leave A Reply