एमबीएम न्यूज़ / नाहन
डीसी ललित जैन की अध्यक्षता में आज यहां बचत भवन के सभागार में सरस्वती हेरिटेज सर्कल हरियाणा के अधिकारियों की टीम के साथ बैठक हुई। जिसमें जिला की सीमा पर आदीबद्री में सरस्वती नदी पर निर्मित किए जाने वाले सोंब डेम के निर्माण बारे विस्तृत चर्चा की गई। डीसी ने जानकारी दी कि इस आदीबद्री डेम का निर्माण हरियाणा और हिमाचल प्रदेश सरकार के संयुक्त तत्वाधान में किया जा रहा है। शीघ्र ही इस बारे एमओयू भी साइन होने की उम्मीद है। उन्होने कहा कि आदीबद्री में निर्मित होने वाले सोंब डेम में जिला के मातर भेड़ों का कुछ हिस्सा आ रहा है।

डीसी सिरमौर को जानकारी देते हरियाणा के अधिकारी

उन्होने कहा कि इस डेम के बनने के उपरांत जिला की सीमा पर लगते क्षेत्रों में मातर भेड़ों पंचायत में सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाने पर चर्चा हुई। उन्होने कहा कि सिरमौर की सीमा पर कुछ हिस्सा आरक्षित वन के तहत आ रहा है। इसकी क्लीयरेंस के लिए जिला राजस्व अधिकारी नाहन को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। वह इस बारे वन विभाग के साथ समन्वय स्थापित करके इसकी स्वीकृति के लिए मामला पर्यावरण एवं वन मंत्रालय को प्रेषित किया जाएगा।
डीसी ने बताया कि आदीबद्री में सोंब डेम के बनने से इस क्षेत्र में पर्यटन की गतिविधियों को भी बढ़ावा मिलेगा और जल क्रीडा तथा नौकायन इत्यादि से इस क्षेत्र में के लोगों को स्वरोजगार के अवसर भी उपलब्ध होगें । उन्होने कहा कि हरियाणा सरकार के अधिकारियों के साथ डेम के संबधित विभिन्न पहलूओं और विशेषकर सिरमौर की सीमा पर लगने वाले क्षेत्रों के हितो की रक्षा पर विस्तार से चर्चा हुई। बैठक में सरस्वती हेरिटेज सर्कल कुरूक्षेत्र के अधीक्षण अभियंता अरविंद कौशिक, हरियाणा बिलासपुर के एसडीएम नवीन अहूजा, अधीशासी अभियंता लोक निर्माण नरायणगढ़ संदीप गोयल, हंसराज शर्मा अधिशासी अभियंता सरस्वती हेरिटेज जगाधरी के अतिरिक्त एसडीएम नाहन विवेक शर्मा, एसडीएम पांवटा एलआर वर्मा, जिला राजस्व अधिकारी सहित अन्य अधिकारियों ने भाग लिया।

Share.

About Author

Leave A Reply