एमबीएम न्यूज़/हमीरपुर

नादौन के बेला गांव में कामेश्वर चंद कटोच ने अपने घर के पास गोल्डन किस्म के दो सेब के पेड़ लगाए हैं, जिनमें काफी फल आ गया है। जिससे इस परिवार ने इस धारणा को नकार दिया है कि सेब पहाड़ी क्षेत्रों में ही पैदा होते हैं। उन्होंने बताया कि यह सेब के 2 पौधे शौकिया तौर पर कुल्लू से मंगवा कर लगाए थे। जिन पर इस मौसम में दूसरी बार फल आए हैं।

सेब के पेड़ों में लगे फलों को दिखाते कामेश्वर चन्द कटोच

उनका कहना है कि पिछले वर्ष भी इन पेड़ों पर अच्छी किस्म के गोल्डन सेब प्राप्त हुए थे। इस बार तो यह दोनों पेड़ बंपर क्रॉप से लहलहा रहे हैं। गौर हो कटोच ने अपने किचन गार्डन में पलम, हर किस्म के आम, लीची, संतरा, नींबू, गलगल, पपीता आदि हर प्रकार के फलदार पौधे शौकिया तौर पर लगाए हैं।

इस काम में उनका भाई गगन सिंह भी साथ देता है। दोनों भाई अन्य किसानों के लिए भी प्रेरणा के स्त्रोत बने हुए हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply