एमबीएम न्यूज़/नाहन
   सिरमौर गोरखा एसोसिएशन का 52वां वार्षिक सम्मेलन मंगलवार को शमशेर पुर कैंट नाहन में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने की। इस अवसर पर उपस्थित जन समूह को संबोधित करते हुए डॉ. बिंदल ने सिरमौर गोरखा एसोसिएशन को वार्षिक सम्मेलन की बधाई देते हुए कहा कि भारत की सीमाओं की रक्षा में गोरखा रेजिमेंट का महत्वपूर्ण योगदान है। भारत और नेपाल दोनों देश एक मां के दो पुत्र है। नेपाल और भारत की सीमा पर कभी भी प्रहरी तैनात नहीं रहें। दोनों देश के लोग आपसी सौहार्दपूर्ण वातावरण में रहते है।

   भारत और नेपाल की संस्कृति और जीवन मूल्य एक समान है। उन्होंने कहा कि सिरमौर जिला के साथ-साथ हिमाचल के विकास में गोरखा समुदाय का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि वर्ष 1970 से नाहन में सेना के साथ भूमि विवाद चला है। जिसके निराकरण के लिए केन्द्र सरकार के साथ मामला प्रभावशाली ढंग से उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गोरखा समुदाय की देश भक्ति के प्रति जज्बात, श्रद्वा व निष्ठा अनुठी मिसाल है। देश की सीमा की रक्षा के लिए इस समुदाय के जवानों द्वारा दिए गए बलिदान को देश कभी नही भूला सकता। उन्होंने कहा कि नाहन शहर की पेयजल समस्या का काफी हद तक निराकरण हो चूका है।

    गिरी पेयजल योजना को आगामी जून 2019 तक पूर्ण कर इसका लोकापर्ण कर लिया जाएगा। जिससे इस शहर की पेयजल समस्या का स्थाई समाधान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 में क्षेत्रीय चिकित्सालय नाहन में मात्र 11 चिकित्सक कार्यरत थे। आज डॉ. वाईएस परमार मेडिकल कॉलेज में 72 चिकित्सक अपनी सेवाऐं देें रहे है। सिरमौर गोरखा एसोसिएशन के अध्यक्ष खेम बहादुर ने मुख्यातिथि को खुखरी भेंट कर सम्मानित किया। डॉ. बिंदल को गोरखा समुदाय तथा इस क्षेत्र की समस्याओं से अवगत करवाया।

      इस मौके पर सिरमौर गोरखा एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष शेर बहादुर थापा ने बताया कि संघ द्वारा गोरखा समुदाय की संस्कृति केे संवर्धन एवं संरक्षण को प्रोत्साहित करने के अतिरिक्त मेधावी विद्यार्थियों तथा गंभीर बीमारी से ग्रस्त मरीजों को आर्थिक सहायता दी जाती है। समुदाय की बेटी की शादी मे खुखरी भी दी जाती है। इस अवसर पर मण्डल अध्यक्ष दीन दयाल वर्मा, गोरखा एसोसिएशन के महासचिव विरेन्द्र बहादुर, संगठन सचिव योगेन्द्र गुंरग, उपप्रधान भुपेन्द्र गुंरग, प्रैस सचिव मनोज थापा, पूर्व प्रधान प्रेम सिंह थापा के अतिरिक्त गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।

Share.

About Author

Leave A Reply