वी कुमार/मंडी
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अजय राणा का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह मौकापरस्ती की राजनीति करते हैं। लोकसभा के चुनावों को नजदीक आते देख मौके का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं। राणा ने कहा कि शिमला में विक्रमादित्य से पत्रकार वार्ता करवाकर जो आरोप लगवाए गए वह सभी निराधार हैं। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह ने इस बार खुद सामने न आकर अपने बेटे को अपनी बात कहलवाने के लिए आगे किया। क्योंकि प्रदेश में लोकसभा के चुनाव नजदीक हैं। ऐसे में वीरभद्र सिंह एक बार फिर अपने परिवार को आगे करने की सोच रहे हैं।

   उन्होंने कहा कि मौकापरस्ती की राजनीति करना वीरभद्र सिंह की आदत रही है। राणा ने कहा कि लोकसभा के चुनावों में वीरभद्र सिंह चाहे जो मर्जी हथकंडे अपना लें लेकिन जीत भाजपा की ही होगी। उन्होंने दावा किया कि चारों सीटों पर भाजपा के प्रत्याशी जीत दर्ज करके कांग्रेस को करारी शिकस्त देंगे। अजय राणा ने कहा कि जब भी प्रदेश में भाजपा की सरकारें आती हैं तो वीरभद्र सिंह को डर लगना शुरू हो जाता है।

     जब कांग्रेस की सरकार आती है तो वीरभद्र सिंह भाजपा नेताओं के खिलाफ षडयंत्र के तहत केस बनाना शुरू कर देते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता समझदार है। वह पूरी तरह से समझ चुकी है कि अब वीरभद्र सिंह की मौकापरस्ती की राजनीति नहीं चलेगी।

Share.

About Author

Leave A Reply