एमबीएम न्यूज़/कुल्लू
   भारत एक महान देश है और यहां के ज्योतिष तथा कर्मकांड़ जैसे विषयों का कभी दुनिया भर में डंका बजता था। आज भी देश-विदेश के लाखों लोग इस जटिल विषय पर शोध कर रहे हैं, किंतु हिमाचल का हर वर्ग इस विषय की जटिलता को नहीं समझ पा रहा हैं। अब हिमाचल में समाज को एक जुट करने तथा ज्योतिष और कर्मकांड जैसे जटिल विषय को मुख्यधारा में लाने के लिए ब्राह्मण जन कल्याण सभा ने अपनी कमर कस ली है। इसी कड़ी में कुल्लू के हरीपुर में एक सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें प्रदेश भर से कई विद्वानों ने विशेष रूप से भाग लिया। सम्मेलन को संबोधित करते हुए ब्राह्मण जन कल्याण सभा के कोर कमेटी के अध्यक्ष मनमोहन गौतम ने अपने संबोधन में कहा कि ग्रहों के गुरूत्वाकर्षण तथा उनसे निकलने वाली तरंगों से धरती पर हर जीव तथा वनस्पति पर असर पड़ता है।
  मगर कितना असर पड़ा है इसको सिर्फ ज्योतिष के माध्यम से ही जाना जा सकता है। उन्होने कहा कि आज यह विषय एक परंपरा तक ही सीमित रह गया है। इतने जटिल विषय के पाठयपुस्तक में न होने से आज हिंदुस्तान इस विषय में पिछड़ता जा रहा है। जबकि विदेशों में इसकी जटिलता पर लाखों लोग शोध कर रहे हैं। समाज का हर वर्ग ज्योतिष तथा कर्मकांड़ की प्रमाणिकता को समझे ऐसा ब्राह्मण समाज का प्रयास है। इस सम्मेलन में ब्राह्मण जन कल्याण सभा के अध्यक्ष पं. खेमराज शर्मा, महासचिव लीला गोपाल, उपाध्यक्ष रामकृष्ण शर्मा, निदेशक दौलत राम आचार्य, संस्था के विशेष सदस्य अमरनाथ शास्त्री, पं. तीर्थराज, रविन्द्र शर्मा, रामप्रसाद शर्मा व राजेश शर्मा सहित कई विद्वान उपस्थित थे।
Share.

About Author

Leave A Reply