नितेश सैनी/सुंदरनगर 
   समाजसेवी, सेवानिवृत मुख्य प्रारूपकार एवं दिव्यांगजन कानून सलाहकार कुशल कुमार सकलानी दिव्यांगों के हितों की पैरवी करते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से मिले। इस अवसर पर उन्होंने मुख्यंत्री से 3 दिसम्बर 2018 को राज्य स्तरीय दिव्यांग दिवस का कार्यक्रम जिला मंडी के पडडल या जवाहर पार्क सुंदरनगर में करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि समाज में जो लोग स्वैच्छिक तौर पर देहदान करने के इच्छुक है और संबंधित विभाग को लिखित तौर पर ब्यौरा दिया है। सरकार उन लोगों की विशेष तौर पर पैरवी करते हुए हर तरह से उन पर विशेष निगरानी रखे।
   उन्होंने कहा कि सरकारी, अर्धसरकारी सभी भवनों पर पौडिय़ों के साथ रेम्प न बनाना, सभी अधिकारी 5वीं मंजिल में बैठे होते हैं वहां तक पहुंचना, मिलना अति पीड़ादायक है। सरकार ऐसे कार्यालयों में दिव्यांगों को सुविधा प्रदान करवाने में पहल करे। उन्होंने कहा कि पात्र भूमिहीन दिव्यांगों को एफआरए की क्लियरेंस की बजह से भूमि नहीं मिल रही है। उन्होंने कहा कि एसडीएम कार्यालय में ही ऐसे 30 से अधिक मामले लंबित है। उन्होंने कहा कि ऐसे केसों में सरकार इस वर्ग को छूट का प्रावधान करके राहत प्रदान करे।
    दिव्यांगों की ओर से उनके हितों की पैरवी गंभीर दिव्यांगता होने के बावजूद भी कुशल कुमार सकलानी सर्किट हाउस मंडी में कडाके की ठंड में पहुंचे और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने भी उनके हौंसले की तारीफ करते हुए मांगों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने का भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से इशारा मिलने के बाद अब आगे मांगों को विभागीय स्तर पर लागु करवाने की जिम्मेदारी मुख्य सचिव समेत विभागीय अधिकारियों की तय हो गई है। अब सब तरह के श्रेणियों के दिव्यांगों को उनके हक सुविधा अनुसार उनको मिलेंगे।
Share.

About Author

Leave A Reply