एमबीएम न्यूज़/हमीरपुर
  बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत जिला टास्क फोर्स कमेटी की समीक्षा बैठक सोमवार को उपायुक्त डा. ऋचा वर्मा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह जिला में कार्यरत आंगनवाड़ी केन्द्रों में 6 वर्ष से कम आयु वर्ग के सभी बच्चों को पर्याप्त मात्रा मे पोषक तत्वों से भरपूर पोषाहार उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिला में इस समय 1344 आंगनवाड़ी केन्द्र तथा 7 मिनी आंगनवाड़ी केन्द्र संचालित किए जा रहे हैं, जिनके माध्यम से बच्चों, गर्भवती महिलाओं, धात्री माताओं तथा किशोरियों को सुविधाएं प्रदान कर लाभान्वित किया जा रहा है।

   उन्होंने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधिकारियों को कहा कि वह पीसी एंड पीएनडीटी अधिनियम के अंतर्गत अपने-अपने क्षेत्र में कार्यरत अल्ट्रासाउंड क्लिनिकों का नियमित रूप से निरीक्षण करें। अधिनियम के तहत प्रावधानों के बारे ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता शिविरों का आयोजन कर लोगों को जागरूक करें। उपायुक्त ने कहा कि विभागीय अधिकारी लोगों में बेटियों के प्रति सकारात्मक सोच पैदा करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक जागरूकता कैंपों का आयोजन करें, ताकि कन्या भू्रण हत्या जैसे अपराध को समाज से पूर्णतया समाप्त किया जा सके।
    बैठक में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, विधवा पुनर्विवाह योजना, मदर टेरेसा असहाय मातृ संबल योजना, महिला स्वरोजगार योजना, बेटी है अनमोल तथा बाल-बालिका सुरक्षा योजना के तहत प्रगति की भी समीक्षा की गई। अधिकारियों को इन योजनाओं के तहत दिए गए लक्ष्यों को निर्धारित अवधि में पूरा करने के निर्देश दिए गए। उपायुक्त ने अधिकारियों को आंगनवाड़ी केन्द्र भवनों के निर्माण कार्य को गति प्रदान करने को कहा। जहां आंगनवाड़ी केन्द्र भवन अभी तक नहीं बने हैं, वहां पर भूमि चिन्हित करने के लिए भी निर्देश दिए। इस अवसर पर अतिरिकत उपायुक्त रत्न गोतम, परियोजना अधिकारी डीआरडीए डा. सुनील चंदेल, जिला कल्याण अधिकारी संजीव शर्मा, जिला कार्यक्रम अधिकारी तिलक राज आचार्य के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।
Share.

About Author

Leave A Reply