एमबीएम न्यूज़/हमीरपुर
  गलोड़ क्षेत्र के करीब चार गांवों के वाशिंदे पिछले एक सप्ताह से तेंदुए की दहशत से काफी भयभीत है। शाम ढलते ही तेंदुआ गांव के आसपास आकर दहाडऩा शुरू कर देता है। गांव की महिलाएं अपने मवेशियों को जंगल से व खेतों से चारा लाने में भी अब डर रही हैं। गलोड क्षेत्र के बाहल अमरोह सरेड़ी  व पपलाह के लोगों ने कई बार इस तेंदुए को घर के आस-पास मंडराते हुए देखा। तेंदुआ उपरोक्त गांवों के कई पालतू कुतों को अपना शिकार बना चुका है।
   पिछले 1 सप्ताह से तेंदुए की दहशत से उपरोक्त गांवों के बाशिंदे काफी परेशान हैं। स्थानीय ग्रामीणों ने वन विभाग से शीघ्र तेंदुए को पकडऩे की मांग की है। लोगों का कहना है कि यदि इस तेंदुए की वजह से किसी भी प्रकार की अनहोनी घटना हुई तो वन विभाग पूरी तरह इसके लिए जिम्मेदार होगा। इस संबंध में वनरक्षक विनोद शर्मा ने बताया कि इस बारे में अपने उच्चाधिकारियों से बात करेंगे। यदि विभाग के अधिकारी पिंजरा मुहैया करवा देंगे तो वे इस क्षेत्र में पिंजरा भी लगा देंगे ताकि तेंदुआ किसी को कोई नुक्सान ना पहुंचाए।
Share.

About Author

Leave A Reply