नितेश सैनी/सुंदरनगर 
10 अक्टूबर 1980 के संघर्ष के दौरान शहीद हुए कर्मचारियों को सैकड़ों कर्मचारियों ने भावभीनी श्रद्धांजलि दी। लोक निर्माण विभाग विश्राम गृह चौक में बने शहीदी स्मारक पर एनजीओ के महासचिव एनआर ठाकुर और राज्य विद्युत तकनीकी कर्मचारी महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह खरवार की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें सैकड़ों की तादाद में कर्मचारियों ने भाग लिया। कार्यक्रम में कर्मचारियों की मांगों के संघर्ष के दौरान शहीद हुए कर्मचारियों को श्रद्धा सुमन अर्पित वहीं दूसरी ओर जवाहर पार्क में भी राज्य विद्युत तकनीकी कर्मचारी संघ भारतीय मजदुर संघ ने शहीद हुए कर्मचारियों को श्रद्धांजलि दी। वहां पर यह कार्यक्रम संघ के प्रदेश अध्यक्ष मोहनलाल ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित किया गया।

    एनआर ठाकुर व प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह खरवार भावभीनी श्रद्धांजलि करते हुए

           इस अवसर पर एनजीओ के महामंत्री एनआर ठाकुर संघर्ष के दौरान शहीद हुए कर्मचारियों को याद किया। उनके बलिदान के लिए सभी कर्मचारियों को एकजुट होकर अपनी मांगों को मनवाने के लिए आगे आने का आह्वान किया। उन्होंने कहा है कि कर्मचारियों की मांगों व उनके अधिकारों को दबाने के लिए तत्कालीन सरकार ने जो गोलियां चलाई गई थी। उसमें विभिन्न विभागों के कर्मचारी शहीद हुए थे। उस दिन को प्रदेश कर्मचारी आज भी काले अध्याय के रूप में याद करता है।
        वहीं दूसरी ओर कुलदीप खरवार ने कहा कि सरकार जो बिजली बोर्ड का विघटन करने जा रही है, अगर यह निर्णय जल्द नहीं बदला गया तो कर्मचारी महासंघ आंदोलनकारी रुख अख्तियार करेगा। वहीं मोहन लाल ठाकुर ने कहा कि बिजली बोर्ड के तकनीकी कर्मचारियों की हर समस्या का समय पर निराकरण किया जाएगा। सरकारी संपत्ति को एचपीटीसीएल को हस्तांतरित किया जाना प्रस्तावित है। इस बारे में मुख्यमंत्री से बात हो चुकी है।
       इस मामले को आगे बढ़ाने से पहले प्रबंध वर्ग को मुख्यमंत्री ने तकनीकी कर्मचारी संघ को भी विश्वास में लेकर ही कोई आगामी कार्रवाई करने को कहा है। लेकिन कुछ तथाकथित संगठन आए दिन धरना प्रदर्शन करके सरकार की छवि धूमिल करने में लगे हैं।
Share.

About Author

Leave A Reply