अभिषेक मिश्रा/बिलासपुर
जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान बिलासपुर स्थित जुखाला के तत्वावधान में बुनियादी शिक्षकों को प्री-नर्सरी कक्षाएं चलाने हेतु कार्यशालाएं आयोजित की जा रही हैंI इसके तहत जिले के 297 बुनियादी शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जाएगाI बुनियादी शिक्षकों का प्रथम चरण शिक्षा खंड झंडुत्ता बीआरसीसी भवन में तथा शिक्षा खंड सदर में जिला मुख्यालय में 19 सितम्बर से 21 सितम्बर तक चलाया गया। जिसमें प्रतिभागी शिक्षको को प्री-नर्सरी के गुर सिखाए गएI दूसरे चरण में शिक्षा खंड घुमारवीं एक व दो की प्रशिक्षणशाला 24 सितम्बर से 26 सितम्बर तक तीसरे चरण की प्रशिक्षणशाला शिक्षा खंड स्वारघाट में 27 सितम्बर से 29 सितम्बर तक चलाई गई I बुनियादी शिक्षको की इन कार्यशालाओं में मानव विज्ञान, बौद्धिक विकास खेल-खेल में सीखना, सृजनात्मकता, क्रियात्मकता, सामाजिक भावनात्मक गतिविधियां शिक्षण सामग्री पर आधारित गतिविधियों से बच्चों को मनोरंजनपूर्ण तरीके से कैसे पढ़ाई की ओर अग्रसर किया जा सकता है I
         गतिविधियों के माध्यम से बुनियादी शिक्षकों को बताया गयाI बुनियादी शिक्षकों की इन कार्यशालाओं को संबोधित करते हुए डाइट प्रधानाचार्य अशोक शर्मा एवं जिला समन्वयक प्री- नर्सरी संजय सामा ने कहा कि जिला बिलासपुर में 297 स्कूलों को प्री-नर्सरी के अंतर्गत पायलट आधार पर चयनित किया गया तथा अब तक 297 में से 284 स्कूलों के एक-एक अध्यापक को प्रशिक्षित किया गया है। जबकि पूरे प्रदेश में 3391 स्कूलों में शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि पहली अक्तूबर से 6 अक्तूबर 2018 तक पहले नामांकन का समय दिया गया था।
        जिसे 10 अक्तूबर तक बड़ा दिया गया है I इन 10 दिनों में समुदाय के लोगों से बात-चीत की जाएगी ताकि सरकारी स्कूलों में बढ़ोतरी हो सकेI उन्होंने समाज के सभी वर्गों का आह्वान किया कि इस योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा बच्चों का नामांकन करवाएं और इस योजना का लाभ उठाएंI उन्होंने कहा कि प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री द्वारा इस योजना की विधिवत शुरुआत की जाएगी ताकि स्थानीय जनता के नौनिहाल बच्चों को घर द्वार पर अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा दी जाएगी।
Share.

About Author

Leave A Reply