एमबीएम न्यूज़ / सोलन
डीसी सोलन विनोद कुमार ने जिले के सभी खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने-अपने कार्यक्षेत्र में लोगों से नियमित संवाद स्थापित करें और विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में फीडबैक प्राप्त करते रहें। विनोद कुमार आज यहां खंड विकास अधिकारियों के साथ आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। विनोद कुमार ने कहा कि ग्रामीण विकास में खंड विकास अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। खंड विकास अधिकारियों के माध्यम से ही जिला प्रशासन एवं प्रदेश सरकार ग्राम स्तर पर कार्यान्वित की जा रही योजनाओं को लागू करवाती है।

बैठक की अध्यक्षता करते डीसी विनोद कुमार

विभिन्न योजनाओं के लिए आबंटित धन खंड विकास अधिकारियों के माध्यम से ही व्यय किया जाता है। उन्होंने निर्देश दिए कि खंड विकास अधिकारी विभिन्न योजनाओं का सफल कार्यान्वयन सुनिश्चित बनाएं।
उपायुक्त ने कहा कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में विकास को गति मिल रही है। जिले के सभी खंडों में लगभग 98.98 प्रतिशत मनरेगा जॉब कार्ड सत्यापन किया जा चुका है। जिले में सभी खंडों में 89.71 प्रतिशत मनरेगा कार्यों की जियो टैगिंग की जा चुकी है। सोलन जिले के सभी खंडों में वैयक्तिक शौचालय निर्मित करने का कार्य शत-प्रतिशत पूरा किया जा चुका है।
उन्होंने सभी खंड विकास अधिकारियों को वर्तमान में जिले की चिन्हित पंचायतों में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 के संबंध में लोगों को जागरूक बनाने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि खंड विकास अधिकारी अपने-अपने विकास खंडों में लोगों से यह जानकारी भी प्राप्त करें कि जिला प्रशासन द्वारा इस सर्वेक्षण के संबंध में उन्हें जागरूक किए जाने के लिए भेजे गए जागरूकता वाहनों से उन्हें कोई जानकारी प्राप्त हुई है। यह जानकारी जिला स्तर पर प्रेषित की जाए। अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विवेक चंदेल, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी भानु गुप्ता, जिला पंचायत अधिकारी सतीश अग्रवाल, जिले के सभी खंड विकास अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

Share.

About Author

Leave A Reply