एमबीएम न्यूज़ /हमीरपुर
टौणी देवी बाजार के पास खेतों में खोले गए शराव ठेके के विरोध में वीरवार को ग्रामीणों ने रोष प्रदर्शन किया तथा सांकेतिक धरना दिया। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए ठेके को खेतों से हटाया जाए व किसी और स्थान पर खोला जाए। जहां लोगों को आपति ना हो। ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि एक सप्ताह के भीतर ठेके को न हटाया गया तो आंदोलन तेज कर दिया जाएगा। जिसकी जि मेदारी प्रशासन की होगी। टौणी देवी से बीडीसी सदस्य प्रेम लता ठाकुर, पंचायत प्रधान बबीता चौहान व वार्ड सदस्य ललिता देवी की अगुवाई में महिलाओं ने रोष प्रदर्शन किया। पंचायत व ग्रामीणों के विरोध प्रर्दशन को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।
मौक़े की गंभीरता को देखते हुए एएसपी ठाकुर बलवीर सिंह स्वयं मौके पर पहुचें व लोगों को समझाने का प्रयास किया। जिस पर उन्हें वह जगह दिखाई गई, जहां ठेका खोला गया है। मक्की के खेतों के बीच टीननुमा शैड में शराब के ठेके को खोला गया है। उन्होंनें आश्वासन दिया कि वह जि़ला प्रशासन को जनता की मांग से अवगत करवाएगें। खेतों में शराब का ठेका सुरक्षित जगह पर नहीं है। ग्रामीणों का कहना है कि शराब का ठेका एकांत में खेतों में खेला गया है।
जहां पर अक्सर महिलाओं को खेतीबाडी के काम के लिए जाना पड़ता है, जोकि सही नहीं है। उन्होनें एटीसी द्वारा ठेके का स्थान चिंहित करने से पूर्व स्थानीय पंचायत को विश्वास में ना लिए जाने पर खेद व्यक्त किया और उसी वजह से यह विवाद उत्पन्न हुआ है। गौरतलब है कि इससे पहले भी ग्रामीण ठेके का विरोध कर चुके है तथा प्रशासन को ज्ञापन सौंपा जा चुका है। इसके बावजूद बीते बुधवार से फिर ठेके को खेतों में शुरू कर दिया। इसे लेकर फिर से ग्रामीण उग्र हो गए है। ठेका खुलने के बाद पहली ही रात को शराबियों को जोरदार हुडंदंग किया, जिससे आसपास रहने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा और खेत व खाली स्थान का शराबियों अड्डा बनने लगे है।
इस अवसर पर उप प्रधान राजीव, महिला मण्डल छत्रैल की प्रधान व सदस्यों सहित रावन राम, जगदीश चन्द, विजय बहल, बलवीर सिंह, प्रकाश चन्द, अमरनाथ, प्रशोतम सहित सैकडों ग्रामीण उपस्थित रहे। वहीं एटीसी हमीरपुर कुलभूषण गौतम का कहना है कि नियमों के तहत ठेका खोला गया है। आगामी समय में ठेकेदार किसी अन्य स्थान पर इसे शिफ्ट करने की अनुमति मांगता है तो उस पर विचार किया जाएगा। इसके लिए उसे पहले प्राथना-पत्र विभाग को देना होगा।

Share.

About Author

Leave A Reply