एमबीएम न्यूज़ / बद्दी

नंबरदार कल्याण संघ की बीबीएन इकाई की बैठक में नंबरदारों को पंजाब की तर्ज पर सुविधाएं देने की प्रदेश सरकार से मांग की गई है। बैठक में नंबरदारों ने बीबीएन में खाली पड़े नंबरदारों के पद भरने की मांग की। बद्दी में जिला अध्यक्ष राजेंंद्र ठाकुर व महासचिव भगत राम चौधरी की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में वक्ताओं ने कहा कि जिले में नंबरदारों के 733 पद स्वीकृत है जिसमें दो सौ नंबरदारों को पद खाली पड़े है। बीबीएन में 133 पद है जिसमें से 40 पद खाली पड़े है।

बद्दी में नंबरदार संघ के बीबीएन इकाई की बैठक में भाग लेते हुए नंबरदार

     खाली पड़े पदों पर लंबे से आवेदन संबंधित क्षेत्र के तहसील कार्यालय में जमा कराए गए है लेकिन अभी तक रिक्त पदो पर नंबरदारों को नियुक्ति पत्र नहीं सौंपे है। कई तहसीलों में नंबरदारों को मानदेय नहीं मिला है। संघ ने सभी नंबरदारों को मानदेय मुहैया कराने की मांग की है। जिला महासचिव भगत राम चौधरी ने कहा कि अभी तक नंबरदारों को यह नहीं बताया गया है कि उन्हें मानदेय मासिक, त्रैमासिक, छह मासिक व वार्षिक मिलेगा। नंबरदारों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन की तर्ज पर हर माह मानदेय मिलना चाहिए। पंजाब में नंबरदारों को बस में किराया नहीं लगता है। यहां पर भी नंबरदारों को यह सुविधा मुहैया कराई जाएगी। नंबरादरों को तहसील कार्यालय में बैठने की कोई योजना नहीं है।
    यहां पर नंबरादारों को बैठने की योजना बनाई जाएगी। भगत राम चौधरी ने कहा कि कई स्थानो पर शिना त का कार्य सबंधित मौजा के नंबरदार से न करा करके पंचायत प्रधान व अधिवक्ता से करा लिया जाता है। जिसका नंबरदार संघ विरोध करता है। उन्होंने कहा कि टोडरमल राजा के समय से ही नंबरदार रखने की प्रथा शुरू हुई थी। नंबरदार किसी भी दल से जुड़ा न होने से वह निष्पक्ष फैसला करता है लेकिन अब चुने हुए प्रतिनिधि व अधिवक्ता इस प्रथा पर हावी हो रहे है। उन्होंने प्रदेश सरकार ने इस प्राचीन प्रथा को कायम रखने की प्रदेश सरकार से आग्रह किया है।
      इस मौके पर नंबरदार बाबू राम, चरण दास नंबरदार, यशविंद्र सिंह, दाता राम, बद्दी इकाई के प्रधान कर्मचंद, चरण दास मदन लाल, राज कुमार, वीर सिंह, राम रतन, अमरचंद, रामजीदास, गुरदयाल सिंह, हरिकृष्ण, प्रवेश सिंह, रामनाथ, हुक्म चंद, हकीम द्दीन, मथरा दास, मदन सिंह  ने भाग लिया।
Share.

About Author

Leave A Reply