एमबीएम न्यूज़ / काँगड़ा
प्रदेश सरकार बिना किसी राजनीति द्वेष व प्रतिशोध के राज्य समग्र विकास के एकमात्र लक्ष्य पर कार्य कर रही है। राज्य सरकार ‘सबका विकास सबका साथ’ पर विश्वास करती है। मुख्यमंत्री आज ज्वालामुखी विश्राम गृह में पहुंचने पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। मुख्यमंत्री कांगड़ा जिला के ज्वालामुखी में राज्य भाजपा के विभिन्न मोर्चों के पदाधिकारियों व जिलाध्यक्षों की बैठक में भाग लेने के लिए ज्वालामुखी गए हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष के कुछ नेता प्रदेश सरकार के केन्द्र सरकार के साथ बेहतर समन्वय को बर्दाशत नहीं कर पा रहे है और आधारहीन वक्तव्य जारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि परन्तु प्रदेश सरकार केन्द्र सरकार से 4365 करोड़ रुपये की विभिन्न विकासात्मक परियोजना को स्वीकृत करवाने में सफल रही है। उन्होंने कहा कि जिसमें पर्यटन के लिए 1900 करोड़, बागवानी के लिए 1680 करोड़ तथा सिंचाई एंव जन स्वाथ्य के लिए 800 करोड़ शामिल है। उन्होंने कहा कि यह राज्य सरकार की प्रदेश के कल्याण के लिए वचनबद्धता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार का चार वर्षों का कार्यकाल उपलब्धियों भरा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने देश के 12 करोड़ किसानों को लाभान्वित करने के लिए 14 मुख्य फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्यों में वृद्धि की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के किसानों की आय वर्ष 2022 तक दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उदारता तथा प्रदेश के लोगों के प्यार और आशीर्वाद के कारण लोगों की सेवा करने का अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि हिमाचली टोपी, हिमाचल की संस्कृति का गौरव है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ लोग अपने संकुचित हितों के कारण लोगों को टोपी के रंग के आधार पर बांटने का प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि वे राजनीतिक द्वेष व प्रतिशोध के विरूद्ध है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का विकास व प्रगति सुनिश्चित करना राज्य सरकार का एकमात्र लक्ष्य है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा आरम्भ किया गया जनमंच कार्यक्रम लोगों की शिकायतों का उनके घर-द्वार के निकट निवारण सुनिश्चित करने के लिए आरम्भ किया गया है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेता यह दावा कर रहे हैं कि वर्तमान सरकार द्वारा आरम्भ किए जा रही सभी विकासात्मक परियोजनाएं उनके स्वप्न थे। उन्होंने विपक्ष के नेताओं से जानना चाहा कि इन योजनाओं को आरम्भ करने के लिए उन्हें किसने रोका था तथा कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार स्वप्नों पर नहीं बल्कि कार्य करने पर विश्वास रखती है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने अपने छोटे से छः माह के कार्यकाल में समाज के सभी वर्गों का कल्याण सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न योजनाएं आरम्भ की हैं।
जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के सभी परिवारों को गैस कनैक्शन सुनिश्चित बनाने के लिए राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना आरम्भ की है। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार ने प्रदेश के प्रमुख मंदिरों से एकत्रित चढ़ावे की धनराशि तक का दुरूपयोग किया, जबकि वर्तमान प्रदेश सरकार ने मंदिरों से चढ़ावे का 15 प्रतिशत गौसदनों के निर्माण व रख-रखाव पर खर्च करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है, जिस पर अब कुछ नेता बहुत हो-हल्ला कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अपने हेलीकॉप्टर को पर्यटकों की सुविधा के लिए सप्ताह के तीन दिन हेलीटैक्सी के रूप में उपयोग करने का निर्णय लिया है।
उन्होंने केन्द्र से राज्य में हवाई अड्डे के निर्माण का मामला उठाया है, जिसके लिए भूमि चयनित कर दी गई है और मण्डी जिला में शीघ्र ही हवाई अड्डे का निर्माण कर दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अपने मंत्रिमण्डल की पहली ही बैठक में बिना किसी आय सीमा के वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त करने की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया गया। सरकार के पहले बजट में 30 नई योजनाओं को सम्मिलित किया गया जो अपने आप में रिकॉर्ड है और विपक्षी दलों ने भी बजट की सराहना की।

Share.

About Author

Leave A Reply