अभिषेक मिश्रा/ बिलासपुर
जिला में फैल रहे डेंगू रोग पर नियंत्रण करने और लोगों को जागरूक करने के लिए डीसी विवेक भाटिया ने प्रशासनिक दल बल के साथ डियारा सैक्टर का दौरा किया। घरद्वार जाकर लोगों को न केवल डेंगू से बचने के लिए जागरूक किया। बल्कि घरों व नालियों का स्वयं निरीक्षण किया तथा आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। निरीक्षण के दौरान डीसी ने घरों की नालियों, कूलरों, बाहर बरामदों में रखे फूलों के गमलों और शौचालयों, टंकियों, रसोई घर में संग्रह किए गए पानी व घरों के आस-पास ठहरे जल व झाड़ियों इत्यादि का गहनता से निरीक्षण करते हुए स्थानीय लोगों व पार्षदों से आग्रह किया कि डेंगू से बचने का प्रथम सूत्र यही है कि स्वयं एहतियात बरतते हुए इसके पनपने के प्राथमिक अवसरों को ही खत्म किया जाए।

डेंगू से बचने के लिए लोगों को जागरूक करते डीसी विवेक भाटिया

इस अवसर पर आएएस प्रोवेशनर सौम्या झा, एडीएम विनय कुमार, एसडीएम प्रियंका वर्मा, सहायक आयुक्त सिद्धार्थ आचार्य, सीएमओ डा0 वीके चैधरी, अध्यक्ष नगर परिषद सोमा देवी, उपाध्यक्ष कमलेन्द्र कश्यप के साथ पार्षद नंद लाल राही, माया देवी, बिमला देवी, मनोज पिल्लैई, नवीन वर्मा व सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ संयुक्त निरीक्षण करते हुए डीसी ने जिला में पांव पसार रहे डेंगू के नियंत्रण के लिए संयुक्त टीम के साथ नगर परिषद कार्यालय से आरंभ निरीक्षण मुहिम के तहत डियारा व धौलरा स्थित 8,9 व 10 न0 वार्डों का दौरा किया। इस अवसर पर उन्होंने वहां के बाशिंदों के साथ डेंगू के नियंत्रण के संदर्भ में विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की तथा उन्हें सचेत करते हुए समझाया कि यह डेंगू का प्रथम चरण है।
यदि समय रहते आवश्यक एहतियात नहीं बरती गई तो इसमें कोई शक नहीं कि यह द्धितीय चरण में प्रवेश करके लोगों के लिए अधिक नुकसानदायक सिद्ध होगा। इस अवसर पर उन्होंने डेंगू ग्रस्त मरीजों व उनके परिजनों के साथ भी इसके संदर्भ में व्यापक रूप से चर्चा की और आस-पड़ोस के सभी लोगों को डेंगू से बचने के लिए किए जाने वाले उपायों के संदर्भ में जानकारी देने व जागरूक करने का आह्वाहन किया। इस अवसर पर उन्होंने नालियों का निरीक्षण करते हुए सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा कि नालियों में टिके हुए पानी व कचरे की सफाई के लिए शीघ्र प्रभावी पग उठाएं।
उन्होंने गड्डों और नालियों में डेंगू के लारवा को प्रथम स्तर पर नष्ट करने के लिए अन्य कीट नाशक दवाईयों व मिटटी के तेल का छिड़काव करने के भी आदेश दिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह लोगों के घरों के भीतर और बाहर के स्थानों में कीट नाशक दवाईयों का छिड़काव करना शतप्रतिशत करना सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने कहा कि कोई भी मकान मालिक अपने घर के भीतर छिड़काव के लिए किसी भी स्तर पर मना नहीं कर सकता, ऐसा करने पर उनके विरूद्ध सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा कि वह डेंगू रोग की गंभीरता को देखते हुए एक अतिरिक्त फोगिंग मशीन खरीद कर नगर परिषद को बाहरी क्षेत्रों में फोगिंग करने के लिए उपलब्ध करवाऐं।

Share.

About Author

Leave A Reply