एमबीएम न्यूज़ / बद्दी
मलपुर में कूड़ा फैंकने गए सफाई कर्मियों पर हुए हमले के बाद शनिवार को जहां बद्दी में सफाई व्यवस्था चौपट रही वहीं बाद में आरोपियों के माफी मांगन के बाद मामला सुलझ गया। वहीं शनिवार सुबह पीड़ित कामगारों ने नप परिसर के बाहर एकत्रित हो कर सुरक्षा की मांग की थी। दोषियों के खिलाफ कार्रवार्ई करने की मांग की थी। प्रदर्शनकारियों का कहना था, कि जब तक उनकी सुरक्षा का कोई प्रबंध नहीं होता तब तक वह सफाई करने नहीं जाएंगे। शनिवार सुबह नगर परिषद बद्दी के परिसर में रविदास, विपिन, भीमा, भूपेंद्र, धर्मवीर, रोशन, बांकेलाल व कृष्ण के नेतृत्व में दर्जनों सफाई कर्मी एकत्रित हुए।
कामगारों ने शुक्रवार को रविदास व हैप्पी पर हुए जानलेवा हमला करने वाले दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने नगर परिषद के पदाधिकारियों व पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाज़ी की। प्रदर्शनकारियों का कहना है, कि वह नगर परिषद के तहत कार्य करते है। उन्हें जहां पर कूड़ा छोडऩे के लिए भेजा जाते है। वहां पर जाते है लेकिन शुक्रवार को जब वह मलपुर में कूड़़ा फैंकने गए तो वहां पर ही हीर गुज्जरों ने उनकी हमला कर दिया। जिससे वह ट्रैक्टर छोड़ कर वहां से भाग गए थे।
लेकिन सफाई कर्मी रविदास व हैप्पी उनके चंगुल में फंस गए जिस की उन्होंने जम कर धुनाई की। किसी तरह अपनी जान बचा कर वहां से यह दोनों भागे। वहीं दूसरी ओर शहर में एक दिन में ही सफाई व्यवस्था बिडगने से जहां सरकारी तंत्र हरकत में आ गया। वहीं नप के पदाधिकारी भी हिल गए। आनन-फानन में नगर परिषद अध्यक्ष मदन लाल चौधरी व ग्राम पंचायत संडोली के प्रधान ने कमान संभाली और दोनो पक्षों को आमने सामने बैठकर गिला शिकवा दूर करवाया।
मदन चौधरी ने कहा कि आईंदो से दोनो पक्ष अपना- अपना काम करेंगे। एक दूसरे को पूरा स मान देते हुए काम में बाधा नहीं डालेंगे। सब अपना अपना काम व मांग लोकतांत्रिक तरीके से रखेंगे। बाद में आरोपियों द्वारा माफी मांगने पर समझौता नामा हो गया और नगर परिषद के सभी कर्मचारी पुन: काम पर लौट गए।

Share.

About Author

Leave A Reply