एमबीएम न्यूज़ / ऊना
नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश सरकार के जन मंच कार्यक्रम पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि यह कोई मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की नई सोच या आविष्कार नहीं है, बल्कि यह नाम बदल कार्यक्रम है, इससे अधिक कुछ नहीं। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि ऐसा नहीं है कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कोई ऐतिहासिक कदम जन मंच कार्यक्रम शुरू करके उठाया हो। बल्कि सच्चाई यह है कि पूर्व की भाजपा व कांग्रेस की सरकारों में प्रशासन जनता के द्वार कार्यक्रम होते रहें। उसी कार्यक्रम का लेवल और नाम बदलकर जनमंच किया गया है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जयराम ठाकुर सरकार पिछला रिकॉर्ड देखें तो उन्हें शांता कुमार, वीरभद्र सिंह व प्रोफेसर प्रेम कुमार धूमल के मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान प्रशासन जनता के द्वार कार्यक्रम आयोजित होने का रिकॉर्ड मिल जाएगा।
इससे कहीं ज्यादा सफल कार्यक्रम आयोजित होते रहे हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में जन मंच कार्यक्रम फिलहाल हारे नकारे नेताओं को मंच देने का माध्यम ही साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि जहां भाजपा की हार हुई है। पहले उन स्थानों पर सरकार स्पॉन्सर्ड राजनीतिक कार्यक्रम सरकारी ताने-बाने के बीच करवाए जा रहे हैं। इस में चुने हुए जनप्रतिनिधियों को प्रशासन द्वारा दूर रखा जा रहा है। बस इतनी सी उपलब्धि इस कार्यक्रम की है, जिसे भाजपा का रंग दिया जा रहा है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जिला ऊना के दो कार्यक्रम हुए हैं। दोनों ही उन स्थानों पर किए गए जहां कांग्रेस के विधायक हैं। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार अपने कार्यक्रम करें, इसमें हमें आपत्ति नहीं है।
सरकार को तय करना है कि चुने हुए प्रतिनिधियों को किस प्रकार सरकारी कार्यक्रमों में सम्मान देना है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा था कि अदला-बदली से नहीं चलेंगे और नई सोच नई व्यवस्था के साथ काम करेंगे, पिछले 6 महीनों में ऐसा नजर नहीं आया है। मुकेश ने कहा कि राजनीतिक बेड़ियों में मुख्यमंत्री नजर आते हैं, उन का रिमोट कहीं है, उनके कार्यालय में संघ का प्रभाव है और किस प्रकार के लोग हावी हैं यह सब किसी से छिपा नहीं है। उन्होंने कहा कि स्पीकर का पद बड़ा है,उसकी गरिमा का धेयान भी नही रखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकारी कार्यक्रम में हारे-नकारे लोगो से मंच सांझा करना, स्पीकर को शोभा नहीं देता, उनका रुतबा प्रोटोकॉल बड़ा है। मैं अपनी ओर से हरोली आने पर उनका स्वागत करता हूँ। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर यदि सोचते है कि विपक्ष रहित व्यवस्था प्रदेश में चला लेंगे तो उनकी सोच कभी भी कामयाब नहीं हो सकती। प्रदेश में विपक्ष मजबूत है।

Share.

About Author

Leave A Reply