सुंदरनगर/ नितेश सैनी
बीते रविवार को हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला के सुंदरनगर उपमंडल के डैहर में सतलुज की लहरों में फंसे बिलासपुर के 3 युवकों को प्रशासन और पुलिस व स्थानीय लोगों की सहायता से 3 घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद सुरक्षित बचा लिया था। घटना उस समय सामने आई जब तीन युवक सतलुज झील में नहा रहे थे कि अचानक कोलडैम से पानी छोड़े जाने के कारण झील में जलस्तर बढऩे लगा। इस दौरान तीनों युवक झील के बीच में मौजूद टापू पर अपनी जान बचाने के लिए चढ़ गए।

जायज़ा लेते अधिकारी

सुचना मिलते ही एडसीएम राहुल चौहान ने पानी बंद करवा कर रैस्क्यू ऑप्रेशन चलाकर उक्त तीनों युवकों को सुरक्षित बचा लिया था। वही इस हादसे के बाद सुंदरनगर प्रसाशन जाग उठा है। प्रसाशन के अधिकारियों ने मंगलवार को सतलुज नदी के किनारे का जायजा लिया। इस दौरान एसडीएम राहुल चौहान ने एनटीपीसी और बीबीएमबी के अधिकारियों को सतलुज के किनारे चेतावनी बोर्ड व सायरन लगाने के दिए निर्देश दिए है।
ताकि सतलुज के किनारे आने वाले लोगो को चेतावनी बोर्ड व सतलुज में पानी छोड़ने पर लोगो को सायरन की आबाज होने से अवगत करवाया जाये। एसडीएम राहुल चौहान ने कहा की जल्दी ही चेतावनी बोर्ड और सायरन लगाने का काम शुरू किया दिया जायेगा।

Share.

About Author

Leave A Reply