अभिषेक मिश्रा/ बिलासपुर
  खेल को खेल की उत्कृष्ट भावना से खेलकर आदर्श नागरिक होने का परिचय दें। यह उदगार आज जिला के निजि एवं राजकीय औधोगिक प्रशिक्षण संस्थानों की 28वीं राज्य स्तरीय महिला वर्ग की खेलकूद एंव सांस्कृृतिक प्रतियोगिता के अवसर पर अपने अध्यक्षीय सम्बोधन मे रि0 ब्रिगेडियर (बी.एस.एम.) जे0एस0 वर्मा ने व्यक्त किए।
   उन्होंने कहा कि बच्चों को अनुशासन में रहकर खेल को खेल भावना से खेलना आवश्यक है और खेल गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए अच्छे वातावरण का होना भी जरूरी है। उन्होनें कहा कि बहुत सी बातें ऐसी होती हैं जो किताबी ज्ञान से नहीं बल्कि खेल और खेल की भावना से सीखी जा सकती है।
  उन्होनें कहा कि औद्यौगिक प्रशिक्षण संस्थानों में न केवल युवाओं के लिए उज्जवल स्वरोजगार के द्वार खोलने के अवसर प्रदान किए जाते है अपितु योग्य खिलाडियों को प्लेटफाॅर्म भी उपलब्ध करवाए जाते है। इससे पूर्व आई.टी.आई.स्पोर्ट्स एसोसिएन के प्रधान के.सी. चडडा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा चार दिवसीय राज्य स्तरीय महिला खेल-कूद एंव सांस्कृतिक प्रतियोगिता के बारे में विस्तरित रूप से जानकारी दी।
  उन्होनें बताया कि 11 जिलों के 342 महिला खिलाडी इस प्रतियोगिता में भाग लें रहीं है जिनमें कबड्डी, वाॅलीबाल, बैडमिंटन, खो-खो, बुशु व सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं होगीं। इस अवसर पर प्रधान औद्योगिक क्षेत्र के अरूण डोगरा, एन.जी.ओ. प्रधान इन्द्र सिंह ठाकुर, आई.टी.आई. खेल कौंसिल सदस्य विपिन चडडा, सुभाष कुमार, ए.डी.पी.ओ. जयपाल, विभिन्न सस्ंथानों के प्राधानाचार्योंं एंव अनुदेशक उपस्थित रहे।
Share.

About Author

Leave A Reply