हमीरपुर(एमबीएम न्यूज़ ): उपमंडल भोरंज के अंतर्गत चैंथ खड्ड के तटीकरण न होंने पर धमरोल के जिला परिषद अंकुश सैणी ने एसडीएम भोरंज के माध्यम से प्रदेश व केंद्र सरकार व सभी अधिकारीयों को ज्ञापन भेजा है। चैंथ खड्ड का कार्य पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की घोषणा के लगभग 2 वर्ष पूरे हो जाने पर भी शुरू नहीं हुआ है।

एसडीएम भोरंज को ज्ञापन सौंपते हुए ग्रामीण

   पूर्व मुख्यमंत्री 19 मार्च 2016 को भोरंज दौरे के दौरान समस्या की गंभीरता को देखते हुए पूर्व  मुख्यमंत्री ने 4 करोड़ 78 लाख रुपए से चैंथ खड्ड के डेंजर जोन ब्लैक स्पॉट पर तुरंत कार्य करने के आदेश दिए थे। परंतु आजतक कुछ नहीं हो पाया है। खड्ड के किनारे सैंकडों मकान तथा हजारों कनाल कृषि योग्य भूमि को खतरा है। विभाग ने ब्लैक स्पॉट भी जांच लिए हैं।
   विभाग को बार-बार चेतावनी  देने के बाद भी कोई गंभीरता नहीं दिखाई है। जनता को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है। विभाग द्वारा कभी फाइल को हमीरपर कभी शिमला तो कभी बड़सर बताया जाता रहा है। वहां जब उन अधिकारीयों से बात की जाती है तो तो बे सिर्फ  कागज तैयार करने की ही बात करते हैं। तथा सिर्फ शीघ्र कार्य शुरू हो जाने का आश्वासन देते हैं। सैंकड़ों ग्रामीण चैंथ खड्ड के खौफ  में जी रहे हैं ।
Share.

About Author

1 Comment

Leave A Reply