नाहन (कृष्ण सिंगटा/मोक्ष शर्मा): बैंकिंग सेक्टर से कैरियर शुरू करने वाले आदित्य नेगी आज आईएएस अधिकारी हैं। 2013 बैच के आईएएस अधिकारी आदित्य नेगी ने बतौर अतिरिक्त उपायुक्त (एडीसी) अपनी पहली पारी सिरमौर में शुरू की है। 26 साल की उम्र में आईएएस अधिकारी बनने का गौरव हासिल कर चुके हैं। बैंकिंग सेक्टर में रहने के दौरान अचानक ही मन बदल गया। मन में युवा प्रशासनिक अधिकारी ने आईएएस बनने का सोचा।

      दिन-रात मेहनत करने में जुटे तो कामयाबी मिलना भी लाजमी थी। घुमारवीं व कांगड़ा में एसडीएम रहने के साथ-साथ बीबीएनए मेंं मुख्य कार्यकारी अधिकारी की जिम्मेदारी को भी बखूबी संभाला। लॉ ग्रेजुएट आईएएस आदित्य नेगी मूलत: हिमाचल के किन्नौर जिला के रहने वाले हैं। एमबीएम न्यूज नेटवर्क ने युवा आईएएस अधिकारी से सफलता के राज व प्राथमिकताएं टटोली।

      इस पर उन्होंने बताया कि सफलता हर हाल में मिलती है, बशर्ते इसे पाने की शिद्दत हो। उन्होंने कहा कि बतौर अतिरिक्त उपायुक्त पहली जिम्मेदारी सरकार की योजनाओं का सही तरीके से क्रियान्वयन रहेगा। उन्होंने कहा कि सरकार की जनहित में कई योजनाएं चलती हैं। यदि इनका सही तरीके से क्रियान्वयन हो तो आम लोगों को काफी फायदा मिल सकता है। उन्होंने कहा कि जल्द ही सिरमौर के हरेक कोने-कोने का दौरा करना चाहते हैं, ताकि धरातल की समस्याओं का पता चल सके।

      उन्होंने युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि युवा पीढ़ी देश का बहुमूल्य धन होता है, जिसे व्यर्थ नहीं होने देना चाहिए। युवा आईएएस अधिकारी ने खुले मन से कहा कि वह युवाओं की यूपीएससी की परीक्षा में तैयारी के लिए हर वक्त मदद देने को तैयार हैं। शहर में तालाबों की खस्ताहालत के बारे में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि प्रशासन इस दिशा में जल्द ही ठोस कदम उठाएगा।

Share.

About Author

Leave A Reply