शिमला(एमबीएम न्यूज़): मशोबरा विकास खण्ड की पंचायत पीरन के वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में आज स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा दो सौ से अधिक बच्चों को खसरा रूबैला के टीके लगाए गए। 

      जानकारी देते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा टीकाकरण के लिए नियुक्त किए गए बहुददशीय कार्यकर्ता  मोहन लाल ने कहा कि इस पाठशाला में प्राथमिक पाठशाला तथा आंगनबाड़ी केंद्र  नालटा व पीरन तथा मिडल व वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में 15 वर्ष तक की आयु वर्ग के सभी बच्चों को शत प्रतिशत टीकाकरण किया गया है।

        उन्होने कहा कि राष्ट्रीय खसरा रूबैला टीकाकरण अभियान के तहत जिला में सभी 9 मास से 15 वर्ष तक की आयु वर्ग के सभी बच्चों को 9 अक्तूबर तक स्कूलों में टीके लगाए जा रहे है ताकि बच्चे इन बिमारियों का शिकार न हो। उन्होने  उपस्थित लोगों को जानकारी देते हुए कहा कि खसरा एक जानलेवा रोग है, जोकि वायरल द्वारा फैलता है जिससे बच्चों में विकलांगता तथा कई बार असमायिक मृत्यु भी हो जाती है।

         इसी प्रकार रूबैला एक संक्रामण रोग है यह भी वायरल द्वारा फैलता है इसके लक्षण खसरा जैसे होते है। उन्होने बताया कि यदि गर्भवती महिला शुरूआती दौर में  इन रोगों से संक्रमित हो जाए तो उसके भ्रूण अथवा नवजात शिशु के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।

        उन्होने कहा  कि यदि कोई बच्चा जो शिक्षा ग्रहण नहीं कर रहा है और उसकी आयु 15 वर्ष अथवा इससे कम है ऐसे बच्चों को भी अनिवार्य रूप से खसरा रूबैला का टीका लगाऐं जिसके लिए क्षेत्रीय अस्पताल अथवा जिला के किसी भी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में टीकाकरण की सरकार द्वारा व्यवस्था की गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम में एएनएम सीता शर्मा, आशा वर्कर बेला वर्मा, सुमिता पूनम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मीनाक्षी और विद्या देवी इत्यादि शामिल थी।

Share.

About Author

Leave A Reply