ऊना (एमबीएम न्यूज) : क्षेत्रीय अस्पताल में चिकित्सकों व अन्य स्टाफ की कमी को लेकर स्वयंसेवी संस्थाओं का उग्र रुख जारी है। हालांकि सरकार ने पहले धरने के बाद एक चिकित्सक का तबादला रद्द कर दिया है । प्रदेश सरकार द्वारा चिकित्सकों की कमी पूरी ना करने के चलते स्वयंसेवी संस्थाओं का दूसरा धरना 8 सितंबर को सुबह 10:30 से 11:00 बजे तक डीसी ऑफिस के बाहर होगा ।  

       जानकारी देते हुए जनहित मोर्चा के अध्यक्ष राजीव भनोट, विद्यार्थी समाज सेवा दल के अध्यक्ष पंकज कतना व शिवसेना हिंद के अध्यक्ष विशिष्ट कालिया ने बताया कि क्षेत्रीय अस्पताल में चिकित्सकों व  नर्सिंग स्टाफ सहित अन्य कई कमियां हैं ,जिन्हें 5 सितंबर को धरना देकर उठाया गया था । स्वास्थ्य मंत्री को ज्ञापन भी सौंपा गया था । बावजूद इसके प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य विभाग क्षेत्रीय अस्पताल में चिकित्सकों व नर्सों का पूरा प्रबंध करने में विफल साबित हुआ है। राजीव भनोट ने कहा कि स्वयंसेवी संस्थाएं हस्पताल की खामियों पर सरकार का ध्यान खींचने के लिए अब डीसी कार्यालय के बाहर दूसरा धरना दिया जायेगा।

       उन्होंने कहा कि  यदि इसके बाद भी सरकार ने अस्पताल में चिकित्सकों की व्यवस्था ना की तो ,12 सितंबर को शिमला में मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरना दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि शर्म की बात है कि जिला में दुर्घटना होने के बावजूद प्रदेश सरकार हड्डी रोग विशेषज्ञ की तैनाती नहीं कर पाई है । उन्होंने कहा कि यदि प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य विभाग का इसी प्रकार व्यवहार रहा तो उग्र आंदोलन चलाने से भी परहेज नहीं किया जाएगा । उन्होंने कहा कि धरने में ऊना जनहित मोर्चा, शिवसेना हिंद ,बालाजी क्रांति सेना, जन कल्याण मंच, विद्यार्थी समाज सेवा दल ,यूनिवर्सल ब्लड डोनर ग्रुप ,बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ व स्काई पावर सेवा समिति सहित अन्य संस्थाएं हिस्सा लेंगी।

Share.

About Author

Leave A Reply