रिकांगपिओ  (जीता सिंह नेगी) : जिला क्षेत्रीय अस्पताल रिकांगपिओं किन्नौर में खसरा-रूबेला टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ विस उपाध्यक्ष जगत सिंह नेगी ने किया। इस अवसर पर नेगी ने कहा कि 9 माह से 15 वर्ष तक के बच्चों को यह टीके लगवाएं जाएगे । उन्होनें कहा की इस अभियान के तहत जिले के 18 हजार बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा । उन्होंने सभी बच्चों एवं उनके अभिभावकों से कहा कि टीकाकरण एक प्रकार का सुरक्षा चक्र है जो बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए अहम है।
           नेगी ने कहा कि प्रदेश सरकार सभी जिलो में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कृत संकल्प है। प्रदेश में 180 नए स्वास्थ्य संस्थान खोले अथवा स्तरोन्नत किए गए हैं। वर्तमान सरकार द्वारा चिकित्सकों के 550 पद और विशेषज्ञों के 60 पद भरे गए हैं। नेगी ने कहा की गत साढे चार वर्षों में जनजातीय क्षेत्र किन्नौर में भी स्वास्थ्य क्षेत्र को बढावा देने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत 50 करोड  92 लाख रुपये विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं पर व्यय किए गए हैं।
         मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 पदम नेगी ने खसरा- रूबेला टीकाकरण अभियान की जानकारी देते हुए कहा कि इस अभियान का उद्देश्य 2020 तक जिले को खसरा- रूबेला मुक्त करना है । इस अभियान का प्रथम चरण स्कूलों व आउटरीच स्तरों में आरम्भ किया जाएगा । टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग, आंगनवाडी कार्यकर्ता, आशावर्कर व स्वयं सेवक की प्रशिक्षित दल स्कूलों में भेजा जाएगा। उन्होने कहा कि खसरा-रूबेला टीकाकरण सभी स्कूलो, सामूदायिक स्तरों, आंगनवाडी केन्द्रो और सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रो पर लगाया जाएगा । इसके अलावा, अतिरिक्त दण्डाधिकारी चंदन कपूर ने भी पूह खण्ड में खसरा-रूबेला टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ किया।
      इस अवसर पर उप-मण्डलाधिकारी ना0 कल्पा डॉ0 मेजर अवनिन्द्र कुमार, जिला स्वास्थ्य कार्यक्रम अधिकारी एस0 एस0 नेगी व विभिन्न विभागो के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।
Share.

About Author

Leave A Reply