कुल्लू(एमबीएम न्यूज़ ) : जिला की लोक कलाओं, हस्तशिल्प, रहन-सहन, खान-पान और लोक संस्कृति के अन्य सभी पहलुओं को प्रदर्शित करने के लिए 29 अगस्त से शिमला के रिज मैदान और गेयटी थिएटर में मेगा इवेंट ‘मैसमराइजिंग कुल्लू’ का आयोजन किया जा रहा है। इस मेगा इवेंट को सफल बनाने और इसकी रूपरेखा तय करने के लिए उपायुक्त यूनुस ने शुक्रवार को विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की है।
       उपायुक्त ने बताया कि मेगा इवेंट के दौरान जिला के विभिन्न सांस्कृतिक दल कुल्लवी लोकनृत्य, लोकगीत-संगीत और अन्य कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। इसके अलावा जिला के विभिन्न स्वयं सहायता समूह, स्वयंसेवी संस्थएं और अन्य संगठन स्टाॅल भी लगाएंगे। इन स्टाॅलों में  जिला के पारम्परिक व्यंजन, हस्तशिल्प व हथकरघा उत्पाद, कुल्लवी देव संस्कृति के प्रतीक और अन्य पारम्परिक उत्पाद भी प्रदर्शित किए जाएंगे।
      यूनुस ने बताया कि जिला के प्रसिद्ध पारम्परिक व्यंजन सिड्डू और कुल्लवी धाम के अलावा कुल्लवी टोपी, मफलर व अन्य हथकरघा उत्पादों के अलावा जिले  के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों से संबंधित फोटो व बुकलैट्स, निकोलस रौरिक ट्रस्ट की चित्रकला प्रदर्शनी और ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क से संबंधित प्रदर्शनी भी मेगा इंवेंट की शोभा बढ़ाएगी।
     उपायुक्त ने पर्यटन विभाग, भाषा एवं संस्कृति विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग और जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने विभागों से संबंधित स्वयं सहायता समूहों, संगठनों और सांस्कृतिक संस्थाओं को इस मेगा इवेंट में भाग लेने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने लोक संस्कृति से जुड़े विभिन्न संगठनों, लोक कलाकारों, शिल्पकारों और स्वयं सहायता समूहों से भी इस मेगा इवेंट में भाग लेने की अपील की है ।
      उपायुक्त ने कहा कि इस आयोजन के माध्यम से न केवल जिला की समृद्ध लोकसंस्कृति का व्यापक प्रचार-प्रसार होगा, बल्कि इससे जिला के पर्यटन उद्योग को भी बल मिलेगा। बैठक में जिला पर्यटन विकास अधिकारी रतन गौतम, सहायक आयुक्त, जिला कार्यक्रम अधिकारी वीरेंद्र आर्य, जिला भाषा अधिकारी प्रोमिला गुलेरिया और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।
Share.

About Author

Leave A Reply